बालरंग : मंत्री-अफसर की आवभगत में बच्चे बने वेटर...

545 By 7newsindia.in Wed, Dec 20th 2017 / 18:39:57 कानून-अपराध     

भोपाल। एक तरफ प्रदेश के मुखिया शिवराज सिंह चौहान बच्चों को भांजा-भांजी का दर्जा दिए हुए है, वहीं दूसरी तरफ उन्हीं की सरकार के अधिकारी-मंत्री उनसे अपनी आवभगत करवा रहे है। बच्चों के कार्यक्रम में बच्चों से ही प्लेटे उठवा रहे है। जी हां ये मामला  कहीं और का नहीं बल्कि राजधानी भोपाल का है। जहां बच्चों के लिए आयोजित किए गए कार्यक्रम बालरंग में स्कूली बच्चों से नेताओं-अधिकारियों और वीआईपी की आवभगत करवाई जा रही है। कार्यक्रम में स्कूली शिक्षा मंत्री विजय शाह और जनप्रतिनिधियों को चाय-बिस्किट औऱ मिठाई परोसते हुए दिखाई दे रहे है। जब मीडिया ने इस बारे में मंत्री जी से सवाल किया तो उन्होंने कहा कि काम में कोई बुराई नहीं है।इसमें गलत क्या है। हालांकि संचालक लोक शिक्षण अंजू भदौरिया ने इस पर अपनी गलती मानी और कहा कि  बच्चों से मेहमाननवाजी की परंपरा बंद कराएंगे।यह कार्यक्रम  इंदिरागांधी मानव संग्रहालय के आवृत्ति भवन में आयोजित किया गया है।

करीब एक दर्जन स्कूली बच्चों को मेहमानों की खातिरदारी में तैनात किया गया था। ये बच्चे स्कूल यूनिफार्म में अतिथियों को चाय, बिस्किट और नाश्ता परोस रहे थे। इनमें स्कूली लड़कियां भी शामिल थीं।

बता दे कि प्रदेश में यह कोई पहला मामला नहीं है। इसके पहले भी कई बार इस तरह की घटनाएं सामने आ चुकी है। जो हमारे पूरे सिस्टम को शर्मसार करती है। लेकिन वीआईपी कल्चर के मोहे में पड़े अधिकारी और मंत्री अब भी इस तरह की हरकतों से बाज नहीं आ रहे है।

इस कार्यक्रम में मंत्री विजय शाह ने कहा कि प्रदेश के सरकारी स्कूलों में बैण्ड ग्रुप्स होंगे। 108 हायर सेकंडरी स्कूलों को बजट  देंगे ।ट्रेनिंग के लिये टीचर का इंतजाम आउट  सोर्सिंग से होगा । बालरंग के बैण्ड कांपिटिशन में सरकारी स्कूलों की कम उपस्थिति के बाद ऐलान किया ।

उड़ाया राहुल गांधी का मजाक

बच्चों से आवभगत कराने पर ही मंत्री शाह नहीं रुके बल्कि उन्होंने बच्चों के बीच कांग्रेस के अध्यक्ष राहुल गांधी का ही मजाक उड़ा दिया। गुजरात नतीजे के बाद मंत्री विजय शाह ने राहुल गांधी का मजाक उड़ाया है। स्कूल शिक्षा मंत्री विजय शाह ने कहा राहुल गांधी भी बाल बच्चे हैं।

गौरतलब है कि राजधानी भोपाल के इंदिरागांधी मानव संग्रहालय के आवृत्ति भवन में मंगलवार को बालरंग समारोह को शुभारंभ किया गया। पहले दिन यहां राज्यस्तरीय प्रतियोगिता का शुभारंभ किया गया। राष्ट्रीय प्रतियोगिता 20 और 21 दिसंबर को होगी। राज्य स्तरीय बालरंग प्रतियोगिता का शुभाारंभ सांस्कृतिक, साहित्यिक संस्कृत योग , देश भक्ति गीत, कविता पाठ एवं स्कूली बच्चों की बैंड प्रस्तुति के साथ हुआ। इसमें कनिष्ठ एवं वरिष्ठ वर्ग के 9 संभागों के लगभग 1000 बालक-बालिका अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन करेंगे।

Similar Post You May Like

ताज़ा खबर