ड्रग इन्स्पेक्टर के उदासीनता के चलते नियमों के पालन में बरती जा रही शिथिलता

418 By 7newsindia.in Sun, Nov 24th 2019 / 18:23:27 मध्य प्रदेश     

 कच्चे बिल पर हो रहा व्यापार, भारत सरकार को प्रतिमाह लग रहा लाखों का चूना

 
सीधी, जिले में भारत सरकार द्वारा चलाई जा रही जीएसटी योजना को पूर्णत: शिथिल किया जा चुका है। जीएसटी कर जो टैक्स भारत सरकार के खाते में जानी चहिये वह दो नम्बर की काली कमाई में जा रही है, वर्तमान परिवेश में छोटे व्यापारी के पास जीएसटी के विषय में जानकारी का अभाव है तो वहीं बडे व्यापारियों द्वारा लेखा विभाग से संबधित व्यक्तियों को हर माह लाखों का रूपये का भुगतान सिर्फ इस बात के लिये दिया जाता है कि दो नम्बर को एक नंबर में कैसे बदला जाये। बिल में क्रय किये गये माल और बिना बिल के बीच का अंतर सीधे तौर पर जेब में जा रहा है। सबसे बडी बात जो उभर कर सामने आ रही है वह यह है कि जबाब देह अधिकारी कर्मचारी कभी भी अपने उत्तर दायित्व के निर्वहन हेतु बाजार में औचक निरीक्षण नहीं करते है। सूत्रों की मानें तो ऐसा भी नहीं है कि जबाब देह अधिकारी कर्मचारी की जानकारी में सारा माजरा नहीं है किन्तु व्यापारी और अधिकारी के बीच में सूत्रधार का काम करने वाले विचौलिये अपने दायित्व का निर्वहन भली भॉति कर रहे है। जबाब देह अधिकारी कर्मचारीयोंं द्वारा अपने दायित्व निर्वहन के प्रति घोर लापरवाही करने के कारण ही सीधी जिले से प्रतिमाह लगभग लाखों रू० का राजस्व हानि भारत सरकार को उठानी पड रही है।
 

मेडिकल स्टोर संचालक कर रहे मनमानी -

जिला मुख्यालय सहित अन्य क्षेत्रों में ड्रग इंस्पेक्टर के ढुलमुल रवैया के चलते मेडिकल की दुकानें पूरी तरह से परचून की दुकान सी प्रतीत होती है, उचित विधिक कार्यवाही के अभाव में आवश्यक नियमों की खुले आम धज्जियॉ उड़ाई जा रही हैं।  डीआई की लचर व्यवस्था के चलते बाजार का आलम कुछ इस  तरह हो चला है कि ज्यादातर मेडिकल स्टोर संचालकों का पूरा व्यापार ही सिर्फ कलकूलेटर के सहारे चल रहा है। मेडिकल स्टोर से दवाईयॉ क्रय करने के बाद अगर कोई उपभोक्ता बिल की मॉग करता है तो उसे कल और परसों की डेट दे दी जाती है। जानकारों की मानें तो नये नीति के तहत हर उपभोक्ता को क्रय की सामग्री का बिल देना अनिवार्य है अगर कोई दुकानदार ऐसा करने में आनाकानी करता है तो शासन द्वारा इनसे निपटने के लिये शक्त कानून की व्यवस्था की गई है। सूत्रों से मिली जानकारी के आधार पर जिले में ज्यादातर मेडिकल दुकानों का रजिस्ट्रेशन किसी और के नाम से है और संचालित कोई और कर रहा है। रविवार को हमारे संवादाता द्वारा शहर के दर्जनों मेडिकल स्टोर पर गोपनीय निरीक्षण किया गया और पाया गया कि  ज्यादातर दुकानों पर फार्माशिष्ट गायब थें जो कि सिर्फ कागजों में देखने को मिलते हैं, शेष समय अयोग्य व्यक्ति द्वारा बिना जानकारी के यूॅ ही दवाई विक्रय की जाती है। ग्राहकों को क्रय किये गये दवाईयों के बिल न देने की एक बजह यह भी मानी जा रही है कि मेडिकल की दुकानों पर फार्माशिष्ट के कभी दर्शन ही नहीं मिलते हैं। 
 

ड्रग इन्स्पेक्टर द्वारा बन्द कमरें से होता है निरीक्षण -

सूत्रों की मानें तो कपड़ों की भॉति बदले जाते हैं  सीधी जिले के प्रभारी ड्रग इंस्पेक्टर, जिसके चलते बाजार क्षेत्र में तानाशाही पूर्ण रवैया हावी हो चुका है। 20 नवम्बर17 को नये जूनियर एवं सीनियर ड्रग इंस्पेक्टर का औचक आगवन हुआ सबसे खास बात तो यह रही कि महोदय के सारे आवश्यक कार्य व सभी दुकानों का निरीक्षण होटल के बन्द कमरें के माध्यम से ही होगया। बुधवार को जब मीडियाकर्मीयों द्वारा कार्यवाही की जानकारी चाही गई तो जानकारी से बचने के लिये महोदय द्वारा घंटो तक होटल का दरबाजा ही बन्द कर लिया गया। 
 

इन जगहों पर संचालित हैं दुकानें -

शासन द्वारा बनाये गये नियमों की वर्तमान समय में खुले आम धज्जियॉ उड़ाई जा रही जिसमें खासतौर पर ग्रामींण अंचलों में कई ऐसे मेडिकल स्टोर हैं जहॉ रजिस्ट्रेशन की बात तो दूर कई दुकानें झोलों में संचालित हो रही हैं। बात अगर नियमों की करें तो मुख्यायल में ही कई ऐसे चिहिंत दुकानदार हैं जैसे कि गोपालदास मार्ग, सेन्ट्रल स्कूल के समीप, पटेल पुल तिराहे के समीप सहित अन्य कई चिहिंत स्थल हैं। यहॉ पर दुकानों पर कभी भी फार्माशिष्ट नहीं रहते हैं, साथ ही जीवन रक्षक दवाईयों में स्वच्छता का ध्यान नहीं  दिया जाता है। जिले के ज्यादातर दुकानों में कई बार एक्सपाइरी दवाईयॉ भी देखने को मिल जाती हैं। 

Similar Post You May Like

  •  9 वर्षो से फरार स्थाई वारंटी को कोतवाली पुलिस ने किया गिरफ्तार

    9 वर्षो से फरार स्थाई वारंटी को कोतवाली पुलिस ने किया गिरफ्तार

    सीधी। पुलिस अधीक्षक पकंज कुमावत के निर्देशन में जिले में चलाये जा रहे अभियान के तहत अपराधियों के हौंसले तोड़ कर अपराधो पर पूर्णत: अंकुश लगाने का सिलसिला जारी है। इसी तारतम्य में सिटी कोतवाली नगर निरीक्षक शेषमणि पटेल द्वारा 9 वर्षो से फ रार आरोपी को पकड़कर न्यायालय के समक्ष पेश किया गया। कोतवाली में दर्ज अपराध क्रमांक 356/2011 धारा 20बी एनडीपीसी एक्ट के प्रकरण में 9 वर्ष से फ रार स्थाई वा

  • जिले के लिये बड़ी उपलब्धी,  ग्रीन जोन की ओर सीधी के बढ़ते कदम

    जिले के लिये बड़ी उपलब्धी, ग्रीन जोन की ओर सीधी के बढ़ते कदम

     7 कोरोना पॉजटिव में से 4 हुए पूर्णत: स्वस्थ्य, गृह ग्राम के लिये हुए रवाना - डॉ. बी.एल.मिश्रा   सीधी। विपदा की इस घड़ी के बीच सोमवार 25 मई को जिले में एक ओर मुस्लिम समुदाय के लोग ईद की खुशियॉ मना रहे हैं वहीं दोपहर में जिला चिकित्सा एवं मुख्य स्वास्थय अधिकारी डॉ.बी.एल.मिश्रा के  सौजन्य से एक बड़ी उपलब्धी सामनें आयी है। श्री मिश्रा नें बताया कि जिले में अभी तक कुल कोरोना कोविड़ 19 के पॉजट

  • प्रदेश में 4 लाख 82 हजार से अधिक मजदूरों की घर वापसी

    प्रदेश में 4 लाख 82 हजार से अधिक मजदूरों की घर वापसी

     हर मजदूर को घर पहुँचाएंगे, हर मजदूर को काम दिलाएंगे दूसरे प्रदेशों के मजदूरों के लिए भी सारी व्यवस्थाएं- मुख्यमंत्री श्री चौहान   सीधी 22 मई 2020     मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि किसी भी प्रदेश के मजूदर हों, वे हमारे भाई-बहन हैं, हम हर मजदूर को उसके घर पहुँचाएंगे तथा हर मजदूर को काम दिलाएंगे। प्रदेश में अभी तक 4 लाख 82 हजार से अधिक मजदूरों को घर वापस पहुँचाया गया है। वही

  •  कोरोना की जंग में शामिल है स्वसहायता समूह की महिलायें

    कोरोना की जंग में शामिल है स्वसहायता समूह की महिलायें

      समूह की महिलाओं ने बनाएं मास्क, सात हजार से अधिक की कर चुकी हैं आपूर्ति ———  कलेक्टर रवीन्द्र कुमार चौधरी के मार्गदर्शन में कोरोना वायरस से समाज को सुरक्षित करने के लिए स्वयं सहायता समूह की महिलाएं भी आगे आ गई हैं। जिले में कई गांव की महिलाएं इन दिनों मास्क बनाने में जुटी हैं। इन महिलाओं ने सात हजार से अधिक  मास्क तैयार कर आपूर्ति की है। मास्क बनाने के लिए भरतपुर हैंडल

  • रात्रि कालीन विशेष सफाई अभियान से व्यवसायिक क्षेत्र हुए स्वच्छ

    रात्रि कालीन विशेष सफाई अभियान से व्यवसायिक क्षेत्र हुए स्वच्छ

     सीधी ।  नगर पालिका परिषद सीधी द्वारा स्वच्छ सर्वेक्षण 2020 की आवश्यक तैयारियों को दृष्टिगत रखते हुए शहर को स्वच्छ बनाने के लिए कमर कसी है। शहर के सभी वार्डों मे दिन में एक समय एवं व्यवसायिक क्षेत्रों में 2 बार झाड़ू लगवाई जा रही है। रात्रिकालीन सफाई व्यवस्था में इस कड़ाके की ठंड में भी निकाय के सफाई कर्मचारी रात्रि 8 बजे से रात्रि 10 बजे तक सभी व्यवसायिक क्षेत्रों में सफाई का का

  •  पेट्रोल पम्पों में विक रहा मिलावटी डीजल पेट्रोल, खराब हो रहे वाहन

    पेट्रोल पम्पों में विक रहा मिलावटी डीजल पेट्रोल, खराब हो रहे वाहन

      सीधी।  जिला मुख्यालय में ही मिलावटी डीजल पेट्रोल टंकियों में बेचें जा रहे हैं जिसके कारण वाहन मालिकों के वाहनों में खराबियॉ आने लगी हैं। पेट्रेाल टंकियों में बिक रहे मिलावटी ईंधन पर रोक लगाने के लिये न तो प्रशासनिक तौर पर कोई प्रयास किये जा रहे हैं न ही खाद्य विभाग इस ओर ध्यान दे रहा है। पेट्रोल पम्प संचालक मनमानी दाम वसूलने के साथ मिलावटी ईंधन परोसने से वाज नहीं आ रहे हैं। 

  •   प्रतीक ध्वज लगाकर जिले में मनाया गया सशस्त्र सेना झंडा दिवस

    प्रतीक ध्वज लगाकर जिले में मनाया गया सशस्त्र सेना झंडा दिवस

    सीधी -  सीधी जिले में आज गरिमामय ढंग से सशस्त्र सेना झंडा दिवस मनाया गया। पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री  कमलेश्वर पटेल तथा कलेक्टर  रवीन्द्र कुमार चौधरी सहित जनप्रतिनिधियों एवं अधिकारियों को कल्याण संयोजक जिला सैनिक कल्याण अधिकारी वैद्यनाथ सोनी ने प्रतीक स्वरूप झण्डा लगाया। इस अवसर पर जनप्रतिनिधियों एवं शासकीय सेवकों द्वारा सैनिक कल्याण कोष के लिए सहयोग राशि प्रदान क

  • आए दिन ऑनलाइन ठगी पर अब लगेगा  विराम

    आए दिन ऑनलाइन ठगी पर अब लगेगा विराम

     बैंकिग क्षेत्र में साइबर सुरक्षा का ज्ञान बहुत जरूरी, ऑनलाइन ठगी से बचें सहकारिता मंत्री डॉ. गोविन्द सिंह ने सहकारी बैंकों में साइबर सुरक्षा कार्यशाला में कहा  सीधी   सहकारिता मंत्री डॉ. गोविन्द सिंह ने कहा है कि बैंकिंग क्षेत्रों में साइबर सुरक्षा का ज्ञान बहुत जरूरी है। आज के दौर में न केवल बिना पढ़े लिखे बल्कि पढ़े लिखे व्यक्ति भी साइबर क्राइम के शिकार हो रहे हैं। विश

  •   बलात्कार एवं पॉक्सो के प्रकरण में आरोपी को 10 वर्ष का कारावास

    बलात्कार एवं पॉक्सो के प्रकरण में आरोपी को 10 वर्ष का कारावास

     सीधी, सहायक जिला अभियोजन अधिकारी प्रशान्तय कुमार पाण्डे  द्वारा बताया गया कि थाना मझौली के अपराध में म.प्र. शासन विरूद्ध धीरेन्द्र कुमार बैगा के प्रकरण में न्यायालय द्वारा विचारण उपरांत अभियुक्त  को अवयस्क पीडिता के साथ ज्यादती करने के संबंध में 10 वर्ष का कारावास एवं 500 रू. जुर्माने की राशि से दण्डित करने का निर्णय पारित किया गया।  प्रकरण के तथ्य संक्षेप में इस प्रकार हैं

  •  वन विभाग के अमले ने रौंदा गरीब के आशियानें को

    वन विभाग के अमले ने रौंदा गरीब के आशियानें को

    आदिवासी परिवार को आवास की दो किस्तें हो चुकी हैं जारी सीधी।  जिला मुख्यालय के जनपद सीधी अन्तर्गत ग्राम बहेरा पश्चिम में वन विभाग अमले द्वारा आदिवासी परिवार के निर्माणाधीन प्रधानमंत्री आवास को शनिवार सुबह ध्वस्त कर दिया गया। भारत सरकार की महत्वाकांक्षी योजना प्रधानमंत्री आवास से देश के गरीब परिवारों को पक्के मकान के साथ - साथ रोजगार प्राप्त हो रहे है वहीं दूसरी तरफ  जिले के

ताज़ा खबर